Backlink क्या है और क्यों जरुरी है – जानिए

Backlink क्या है ,क्यों जरुरी है और Backlink कैसे बनाये ? ये सबकुछ अगर आप जानना चाहते हो तो आज आप बिलकुल सही जगह पर आये हो | आज के इस पुरे पोस्ट में आपको बैकलिंक के बारे में विस्तार से बताया जायेगा |

Backlink, दोस्तों SEO का एक दूसरा अहम भाग है और पहला भाग तो आपको पता ही होगा की On page SEO होता है | ये दोनों ही equally जरुरी हैं , ब्लॉग या ब्लॉग पोस्ट को गूगल या बाकि सर्च इंजन में टॉप रैंकिंग हासिल करने की अगर हम बारे करें तो |

लेकिन काफी सारे नये ब्लॉगर ये तो जानते हैं की ब्लॉग को सर्च इंजन (google) में रैंक करवाने के लिए, बैकलिंक बनाना जरुरी है | लेकिन Backlink किस तरीके से बनाना चाहिए ? कैसे बनाना चाहिए ये सब उन्हें सही से पता नहीं होता या फिर वो गलत तरीके से बैकलिंक बनाकर अपने ब्लॉग को मुसीबत में डाल देते हैं |

उससे उनका ब्लॉग रैंक तो नहीं होता, उल्टा उनका spam score जरूर बढ़ जाता है | जिससे ब्लॉग की रैंकिंग बहुत नीचे चली जाती है और कई बार तो गूगल उस ब्लॉग को हटा भी देता है |

Keyword क्या है और क्यों जरुरी है – पूरी जानकारी

एक SEO Friendly Blog कैसे लिखें – पूरी जानकारी

तो आखिर नये ब्लोग्गेर्स को बैकलिंक किस तरीके से बनाना चाहिए ? और बैकलिंक कहाँ से बनाना चाहिए ऐसे ही तमाम बैकलिंक से जुड़े सवालों का जवाब आज हम इस पोस्ट में आपको देंगे | लेकिन पहले हम जानेंगे Backlink क्या है और क्यों जरुरी है | तो चलिए शुरू करते हैं –

Backlink क्या है – What is Backlink in Hindi

Backlink क्या है

Backlink एक प्रकार का लिंक होता है जो एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट को दिया जाता है | Google या बाकि सर्च इंजन Backlink को एक Ranking signal के तौर पर देखते हैं |

क्योंकि जब किसी वेबसाइट के पास बहुत क्वालिटी बैकलिंक बन जाते हैं, तो गूगल या बाकि सर्च इंजन समझते हैं की इस वेबसाइट का कंटेंट काफी high level का है और लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं |

और उस वेबसाइट की अथॉरिटी या वैल्यू ,गूगल की नजर में काफी ऊपर हो जाती है जिससे वेबसाइट की रैंकिंग काफी improve हो जाती है |

For Example – मान लीजिये आपकी कोई दुकान है जहाँ पर आप काफी क्वालिटी प्रोडक्ट लोगों को देते हैं इसलिए कई लोग बाकि लोगों को भी आपके दुकान के बारे में बताते हैं की वहां पर काफी अच्छा सामान मिलता है | इस तरीके से आपको काफी लोग जानने लगते हैं और आपके कस्टमर बढ़ते हैं और साथ ही लोग आपके ऊपर भरोसा करने लगते हैं |

उसी तरीके से जब कोई A वेबसाइट या ब्लॉग काफी बढ़िया कंटेंट देती है और काफी अच्छा ब्लॉग वो है जिसकी वजह से काफी सारे लोग अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर A वेबसाइट को लिंक देकर अपने विजिटर को A वेबसाइट पर जाने के लिए refer करते हैं ,यहीं Backlink होता है |

मुझे पूरी आशा है की आप समझ गए होंगे की Backlink क्या है ? लेकिन Backlink बनाना क्यों जरुरी है ये भी जानना आपके लिए बहुत जरुरी है क्योंकि तभी आप गंभीर होकर बैकलिंक बनाने के बारे में सोचोगे | तो चलिए जानते हैं –

Backlink क्यों जरुरी है

Backlink क्या है

जैसे की दोस्तों मैंने आपको ऊपर बताया की Backlink का मतलब यही होता है की कोई A वेबसाइट किसी B वेबसाइट को लिंक दे रही है मतलब की A वेबसाइट मानती है की B वेबसाइट बहुत ही बढ़िया है , बहुत ही उपयोगी है और लोगो को जरूर उस B वेबसाइट पर जाना चाहिए | इसलिए A वेबसाइट उसे बैकलिंक दे रही है |

ऐसे में खासकर Google (जो की दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है और लगभग सभी ब्लॉगर गूगल में ही अपने ब्लॉग पोस्ट को रैंक करवाने की सोचते हैं | ) ये देखता है की B वेबसाइट को काफी और बाकि वेबसाइट बैकलिंक दे रहे हैं तो जरूर B वेबसाइट या ब्लॉग का कंटेंट न सिर्फ बहुत अच्छा है बल्कि यूजर को हेल्प कर रहा है | और इसलिए गूगल B वेबसाइट को टॉप पर रैंक करता है |

साथ ही गूगल की नजर में B वेबसाइट एक trusted और valuable वेबसाइट या ब्लॉग बन जाता है जिससे गूगल हमेशा उस B वेबसाइट या ब्लॉग के पोस्ट को टॉप रैंकिंग देता है |

यह भी पढ़े :

Backlink kaise banaye

इसलिए दोस्तों बहुत ज्यादा जरुरी है की आप अपने ब्लॉग पर क्वालिटी कंटेंट और अच्छे से on page SEO करने के साथ -साथ क्वालिटी बैकलिंक भी बनाये |

क्योंकि काफी बार ये होता है की जिस कीवर्ड पर आपने पोस्ट लिखा है already उस पर काफी सारे ब्लॉग के पोस्ट गूगल पर रैंक होते हैं | ऐसे में अगर आपने क्वालिटी बैकलिंक बनाये तो आप उन ब्लॉग पोस्ट की रैंकिंग को पीछे छोड़कर आगे आ सकते हो |

मुझे पूरी उम्मीद है दोस्तों अब आप बैकलिंक की importance को भी अच्छे से समझ गए होंगे लेकिन अब सबसे बड़ा सवाल ये आता है की आपको किस टाइप के Backlink बनाने की तरफ ज्यादा ध्यान देना है? क्योंकि बैकलिंक के कई प्रकार होते हैं इसलिए आइये जानते हैं बैकलिंक के प्रकारों के बारे में –

Backlink के प्रकार

जहाँ तक दोस्तों Backlink के प्रकार की बात करें तो वो मुख्य तौर पर दो ही प्रकार के होते हैं –

1 – Do Follow Backlink

2 – No Follow Backlink

1 – Do Follow Backlink

एक Do Follow Backlink एक लिंक है जो main साइट के अथॉरिटी को destination साइट पर भेजकर SEO के संदर्भ में मदद करता है।

और ये अथॉरिटी passing को ही “link juice.” कहा जाता है। dofollow backlinks प्राप्त करने से वेबसाइट के डोमेन अथॉरिटी, या डोमेन रेटिंग में सुधार करने में मदद मिलेगी, जो बदले में, कीवर्ड रैंकिंग में सुधार करने में मदद करता है।

Do Follow Backlink को आप इस तरीके से पहचान सकते हो – <a href=”https://yoursite.com/blog”>

गूगल जरूर दोस्तों Do Follow Backlink को वैल्यू देते हुए आपके ब्लॉग को ऊपर रैंक देता है लेकिन वो Do Follow Backlink आपके ब्लॉग के niche के रिलेटेड ब्लॉग से ही आपको मिला हुआ हो और वो ब्लॉग काफी हाई DA (domain Authority) का होना चाहिए | ये भी जरुरी है और किसी भी तरीके गलत साइट्स से आपको बैकलिंक न मिला है इसका जरूर ध्यान रखें |

2 – No Follow Backlink

एक No Follow Backlink, एक लिंक है जो उस वेबसाइट पर authority को pass नहीं करता है जिससे वह लिंक कर रहा है। ये लिंक SEO के मामले में मदद नहीं करते हैं।

No Follow Backlink की पहचान आप ऐसे कर सकते हो –

<a href=”https://yoursite.com/blog”rel=”nofollow”>

No Follow Backlink हालाँकि गूगल ignore करता है और आपको रैंकिंग में कोई फायदा नहीं होता लेकिन फिर भी आपको 100 में 20 से 30 प्रतिशत जरूर No Follow Backlink बनाने चाहिए |

तो कुल मिलाकर दोस्तों आपने बैकलिंक के प्रकार के बारे में जाना जिससे आपको आईडिया लग गया होगा की हमे ज्यादा फोकस जरूर Do Follow Backlink बनाने में करना है लेकिन साथ ही थोड़ा बहुत हमे No Follow Backlink भी जरूर बनाने हैं |

क्योंकि इस तरीके से आपके ब्लॉग पर बैकलिंक का एक balance बना रहता है नहीं तो गूगल समझता है की आपने 100% do follow बैकलिंक कैसे बना लिए शायद कुछ तो गड़बड़ है |

दोस्तों अभी आपके मन में जरूर ये सवाल आ रहा होगा की बैकलिंक बनाये कैसे ? वो जरूर हम आपको नीचे बताएंगे लेकिन उससे पहले बहुत जरुरी है की आप जाने की बैकलिंक बनाने से पहले हमे किन-किन बातों का ध्यान रखें –

बैकलिंक बनाने से पहले इन बातों का रखें खास ख्याल

1 – सबसे पहले आपको सिर्फ अपने ब्लॉग टॉपिक के रिलेटेड ऐसे ब्लॉग से बैकलिंक लेने हैं जो गूगल पर वैल्युएबल हो रैंक करती हो |

2 – दूसरा आपको स्पैम साइट जैसे – porn साइट्स या फिर ऐसे साइट्स जो गूगल guideline के हिसाब से नहीं चलते उन पर जाकर बैकलिंक नहीं बनाने क्योंकि वहां से बैकलिंक मिलने पर आपका स्पैम स्कोर बढ़ता है |

3 – बहुत जल्दी -जल्दी आपको बैकलिंक नहीं बनाने क्योंकि गूगल के न्यू अपडेट के अनुसार बैकलिंक बनाना जरुरी तो है लेकिन बैकलिंक क्वालिटी वाला होना चाहिए | इसलिए बैकलिंक की नंबर पर नहीं बल्कि क्वालिटी पर आपको फोकस करना है |

High Quality Backlink कैसे बनाये – 10 बेहतरीन तरीके

आखिर में अब दोस्तों हम आपको ऐसे तरीके बताने वाले हैं, क्वालिटी बैकलिंक बनाने के जिससे आपके ब्लॉग की अथॉरिटी भी बढ़ेगी और आपकी रैंकिंग भी सर्च इंजन में improve होगी इसके अलावा आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक भी आएगा | तो चलिए जानते हैं –

#1 – Guest Post लिखें

Guest Post एक बहुत ही Effective और popular तरीका है हाई क्वालिटी बैकलिंक लेने का | क्योंकि इसमें आपको ब्लॉग के ओनर खुद ही अपने ब्लॉग से do -follow बैकलिंक देते हैं अगर आप उनके लिए बढ़िया आर्टिकल लिखते हो और सिर्फ आपको क्वालिटी बैकलिंक ही नहीं बल्कि काफी ट्रैफिक भी मिलता है |

Guest Post के जरिये बैकलिंक लेने का process –

1 – सबसे पहले आपको अपने niche के रिलेटेड उन ब्लॉग को सर्च करना है जिनका DA (डोमेन रेटिंग/अथॉरिटी ) काफी अच्छा हो |

2 – उसके बाद उन्हें mail करना है की आप उनके लिए आर्टिकल लिखना चाहते हैं और जब वो आपको परमिशन दें की हाँ आप हमारे लिए इस टाइप का आर्टिकल लिख के दे दो तब आपने उनके लिए आर्टिकल लिखकर उन्हें mail कर देना है |

3 – साथ ही दोस्तों mail में आपको अपने ब्लॉग या ब्लॉग पोस्ट जिसका भी आपको बैकलिंक चाहिए उसका यूआरएल और अपने बारे में कुछ लिखकर उन्हें send करना है | बस यही प्रोसेस है जिसके बाद आपको एक क्वालिटी बैकलिंक भी मिलता है |

और उस ब्लॉग पर जो भी आपके लिखे हुए पोस्ट को पड़ेगा तो बैकलिंक के जरिये वो विजिटर आपके ब्लॉग पर भी आ जाते हैं जिससे आपका ट्रैफिक भी बढ़ता है |

#2 – Broken-Link Building method

Backlink क्या है

दूसरा सबसे बेहतरीन तरीका है high-quality बैकलिंक बनाने का Broken-Link Building जी हाँ | actually होता क्या है की आपने कई बार देखा होगा की जब आप किसी ब्लॉग पोस्ट पर जाते हो या किसी वेबसाइट का पेज पर जाते हो तो वो आपको बिलकुल blank दिखता है वहां पर 404 का error शो होता है |

Broken-Link Building method से बैकलिंक बनाने का process –

1 – इस चीज़ का फायदा ले सकते हो या फिर बैकलिंक ले सकते हो आप अपने niche से रिलेटेड टॉप ब्लॉग के Broken-Link को सर्च करो जिसके लिए बहुत से फ्री टूल आपको गूगल से मिल जाते हैं |

2 – Broken-Link सर्च करने के बाद आप उनको मेल करके बता सकते हो की आपके इस पेज पर दिया गया ये लिंक काम नहीं कर रहा है क्या आप इस लिंक पर मेरे इस ब्लॉग पोस्ट या फिर होम पेज के यूआरएल को add कर सकते हो |

और वो जरूर कर भी देगा क्योंकि उसे पता है की Broken-Link होना ब्लॉग के लिए SEO के पॉइंट से सही नहीं है इसलिए वो वहां पर आपको बैकलिंक दे सकता है जिससे आपको क्वालिटी बैकलिंक मिल जायेगा |

लेकिन हाँ एक बात का जरूर ध्यान रखें की आप जिस ब्लॉग broken -link है | उसको इस तरीके से बताये की आप उसकी मदद कर रहे हो न की अपने लिए सिर्फ बैकलिंक बनाने के बारे में सोच रहे हो अपनी तरफ से friendly नेचर रखें |

#3 – infographics के जरिये Backlink बनाये

Backlink क्या है

infographics एक बहुत ही modern और बेहतरीन तरीका है ब्लॉग पर क्वालिटी बैकलिंक पाने का | infographics का मतलब होता की आप किसी डिज़ाइन की शक्ल में लोगो को जानकारी दे रहे हो जो बहुत attractive भी लगती हैं और समझने में भी बहुत आसान होती हैं |

आजकल बहुत सी infographics sites हैं जहाँ पर आप अपने ब्लॉग टॉपिक से रिलेटेड infographics बनाकर अपलोड कर सकते हो और वहां पर अपने ब्लॉग या ब्लॉग पोस्ट के लिए क्वालिटी बैकलिंक ले सकते हो |

infographics के जरिये Backlink बनाने का process

1 – सबसे पहले अपने टॉपिक से रिलेटेड infographics बनाये और फिर उन ब्लॉग को खोजें जो आपके infographics को ले सकें और बदले में आपको बैकलिंक दें |

आप canva से बहुत ही बढ़िया infographics बना सकते हो |

अंतिम लेकिन कम से कम, उन लोगों को ईमेल आउटरीच करें जो पहले इसी तरह के इन्फोग्राफिक्स से जुड़े हुए हैं या उन्हें सोशल मीडिया पर शेयर किया है। अपने इन्फोग्राफिक पर फीडबैक मांगें, लेकिन सीधे लिंक के लिए कभी न पूछें। अगर उन्हें आपका इन्फोग्राफिक पसंद है, तो उन्हें पता होगा कि क्या करना है।

#4 – Interlinking method

एक सफल ब्लॉग चलाने के लिए Interlinking एक महत्वपूर्ण तरीका हैं। वे link -juice पास कर रहे हैं, और आप अपने एंकर टेक्स्ट का उपयोग कर सकते हैं।

एक अच्छी Interlinking-structure के साथ, आप users को अपनी वेबसाइट के माध्यम से आसानी से नेविगेट करने और समग्र overall user experience को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

ऐसे टूल्स हैं जो ऑटोमेटिकली रूप से आपके ब्लॉग पर Interlinking बना सकते हैं, खासकर यदि आप वर्डप्रेस चला रहे हैं,

लेकिन आपको इसे मैन्युअल रूप से करना चाहिए। माइक्रोसॉफ्ट के मैट कट्स ने सिफारिश की है कि वेबमास्टर्स प्रयोज्य और SEO दोनों के लिए per -page Interlink की संख्या 100 से नीचे रखें।

#5 – अपने कॉम्पिटिटर के बैकलिंक को जरूर देखें

ये तरीका मुझे personally बहुत पसंद है क्योंकि जो ब्लॉग आपके टॉपिक से रिलेटेड हैं और वो already गूगल पर टॉप में रैंक कर रहे हैं उन्होंने किस तरीके से और कहाँ से बैकलिंक बनाये ये जानने के बाद आपके लिए बहुत आसान हो जाता है क्वालिटी बैकलिंक बनाना |

गूगल पर आपको काफी सारे Backlink checker टूल मिल जाते हैं जहाँ से आप पता कर सकते हो की जो ब्लॉग या ब्लॉग पोस्ट टॉप पर रैंक हो रहे हैं उन्होंने किस तरीके से बैकलिंक बनाये और आप भी उन्ही तरीकों का इस्तेमाल करके बैकलिंक बना सकते हो जरुरी आपको इसका बड़ा फायदा मिलेगा |

#6 – अपने कंटेंट को प्रमोट करें

दोस्तों जब तक आप अपने ब्लॉग पोस्ट को प्रमोट नहीं करोगे तब तक आपके क्वालिटी कंटेंट आपको बैकलिंक नहीं दे पाएंगे | आपको दुनिया में बाहर निकलना होगा और अपने सर्वोत्तम लेखों को बढ़ावा देने के लिए ईमेल आउटरीच करना होगा |

ऐसा करने के लिए सबसे अच्छी रणनीतियों में से एक है साप्ताहिक या मासिक राउंडअप चलाने वाले ब्लॉगर्स या वेबसाइटों से संपर्क करना। फिर से, आप Google का उपयोग कर सकते हैं और “कीवर्ड + राउंडअप” जैसे प्रश्नों की खोज कर सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आपने केवल पिछले सप्ताह या महीने के परिणाम देखने के लिए चुना है।

फिर वेबमास्टर्स से संपर्क करें और उन्हें अपनी वेबसाइट का त्वरित परिचय दें। अपने संदेश के साथ, अपने सबसे अच्छे ट्यूटोरियल या गाइड में से किसी एक का लिंक भेजें। यदि वे आपके संसाधन को उपयोगी पाते हैं, तो वे अपने अगले साप्ताहिक राउंडअप में आपसे वापस जुड़ सकते हैं। ये ब्लॉगर लगातार बढ़िया सामग्री की तलाश में रहते हैं, इसलिए वे निश्चित रूप से आपसे सुनना चाहते हैं।

अन्य तकनीकों की तरह, सुनिश्चित करें कि आप सीधे किसी लिंक के लिए पूछकर किसी भी वेबमास्टर के साथ अपने संबंधों का दुरुपयोग नहीं करते हैं।

#7 – testimonials लिखें

testimonials बहुत ही आसान तरीका है क्वालिटी बैकलिंक पाने का ,काफी सारी वेबसाइट होगी जिन पर आप रेगुलर विजिट करते होंगे उनके लिए आप testimonials लिखकर बैकलिंक पा सकते हो |

जब तक आप उस उत्पाद के ग्राहक हैं, इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि आपको testimonials के बदले में एक लिंक मिल सकता है।

#8 –Contact journalists and important bloggers.

अपने ब्लॉग पर क्वालिटी बैकलिंक पाने के लिए आपको चाहिए की आप अपने ब्लॉग के बारे में दुनिया को बताओ | अपने ब्लोग्गेर्स और journalists को ईमेल आउटरीच के जरिये अपने ब्लॉग के बारे में बता सकते हो |

और वो आपके ब्लॉग के बारे में लिखेंगे और आपको वहां से क्वालिटी बैकलिंक तो मिलेगा ही साथ ही बहुत सा -ट्रैफिक भी मिलेगा |

#9 – Donate करें

हां, आप nonprofit organizations को दान करके बैकलिंक्स कमा सकते हैं। आपको बस अपने आला में ऐसी वेबसाइटें ढूंढनी हैं जो दान स्वीकार करती हैं |

और उन साइटों से लिंक करती हैं जिन्होंने दान किया है। बस उस दान की राशि जमा करें जिसे आप करना चाहते हैं और अपनी वेबसाइट का URL लिखें।

इन वेबसाइटों को खोजने के लिए Google में कुछ खोजों की आवश्यकता होती है। ये कुछ प्रश्न हैं जो आमतौर पर अच्छे परिणाम देते हैं:

  • contributors page + donate + your keyword
  • donation + contributors + your keyword
  • contributors page + your keyword

#10 – इंटरव्यू करें

Online interviews  अभी एक बहुत ही बेहतरीन तरीका बना हुआ है ,और आपकी वेबसाइट पर बैकलिंक्स अर्जित करने का एक शानदार और आसान तरीका है।

एक बार जब आप अपने अथॉरिटी ब्लॉगर बन जाते हैं, तो आपको बहुत सारे साक्षात्कार के निमंत्रण मिलेंगे, लेकिन तब तक, आरंभ करने के लिए, आपको पहला कदम उठाना होगा। उन वेबसाइटों की तलाश करें जो साक्षात्कार चला रही हैं और उन्हें बताएं कि आप भाग लेना चाहते हैं और आप किस ज्ञान का योगदान कर सकते हैं।

और फिर बदले में वो आपके ब्लॉग का यूआरएल add करेंगे आपके ब्लॉग के बारे में बात करेंगे जिससे आपको बैकलिंक भी मिलेगा और ऑडियंस भी मिलेगी |

ये वीडियो हमने Hindi Me Jankari यूट्यूब चैनल से लिया है

निष्कर्ष

आखिर में दोस्तों यही कहना है की ऊपर जितने भी तरीके मैंने आपको बताये ये बहुत ही सही तरीके हैं जिनसे आप बैकलिंक बनाकर अपने ब्लॉग की रैंकिंग भी बढ़ा सकते हो और आपके ब्लॉग की अथॉरिटी भी बहुत बढ़ जाती है | और हाँ गलत तरीके से बैकलिंक बनाने की कोशिश अब बिलकुल न करें|

हाँ जरूर कुछ टाइम के लिए आप रैंक हो जाओगे लेकिन आगे चलकर आपको बहुत परेशानी होने वाली है ये बात सूरे है क्योंकि गूगल अब इस मामले में बहुत गंभीर है इसलिए सही तरीकों का इस्तेमाल करें समय लगेगा ,मेहनत करनी पड़ेगी लेकिन लम्बी रेस का घोडा बनने के लिए ये बेहद जरुरी है |

आशा है दोस्तों आप इस पुरे पोस्ट को पढ़ने के बाद अच्छे से समझ गए होंगे की Backlink क्या है ,क्यों जरुरी है और कैसे बनाये जाते हैं ? अगर आपका हमारे ब्लॉग या फिर हमारे इस पोस्ट को लेकर कोई भी सुझाव या सवाल हो तो आप हमे कमेंट में बता सकते हो |

दोस्तों अगर आपको हमारा ये पोस्ट useful लगा हो तो प्लीज सोशल मीडिया पर शेयर भी करें और साथ ही हमे भी हमारे सोशल मीडिया पेज पर फॉलो करें और हमारे email newsletter को भी सब्सक्राइब करें ताकि ऐसी ही बढ़िया जानकारी आपको हमारे द्वारा मिलती रहे |

Deepak Bhandari

मेरा नाम दीपक भण्डारी है और मैं उत्तराखंड का रहने वाला हूँ और मुझे इंटरनेट से जुडी चीज़ों खासकर ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जानना और उसके बारे में लिखना बहुत पसंद है | मैं अपने इस ब्लॉग के जरिये सभी को आज के दौर की सबसे बड़ी डिजिटल क्रांति से जोड़ने का प्रयास करता रहूंगा |

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Bhakti

Good article on backlink for seo purpose

Contact Us