PPC क्या है,क्यों जरुरी है और कितने प्रकार का होता है |

PPC क्या है ,दोस्तों या तो आपका कोई बिज़नेस है जिसे आप ऑनलाइन मार्केटिंग करना चाहते हो या फिर आप कोई डिजिटल मार्केटिंग के स्टूडेंट हो जो PPC के बारे में जानना और सीखना चाहते हो | आज के इस पोस्ट में हम आपके हर वो doubt जो आपको PPC को लेकर हैं, दूर करने वाले हैं |

सबसे पहली बात तो ये की आज के दौर में किसी भी तरीके के बिज़नेस को प्रमोट करने के लिए डिजिटल मार्केटिंग सबसे ज्यादा जरुरी है ये तो आप मान लीजिये | अब डिजिटल मार्केटिंग में भी दो मेजर तरीके हैं ,जिससे आप अपने प्रोडक्ट या सर्विस को ऑनलाइन प्रमोट कर सकते हो |

पहला ऑनलाइन मार्केटिंग के तरीका हैं जिसमे आपको कोई पैसा नहीं देना होता लेकिन उसमे आपको समय भी लगता है और मेहनत भी ज्यादा करनी पड़ती है |

लेकिन साथ ही ऑनलाइन प्रमोशन में कुछ ऐसे भी कारगर दूसरे तरीके हैं, जिनमे आपको कुछ पैसा इन्वेस्ट करने के बाद बहुत कम समय में आपको रिजल्ट दिखाई देते हैं | और जो ये पैसे खर्च करके ऑनलाइन प्रमोशन होता है, यही PPC होता है |

अब सबसे बड़ा सवाल ये है की पहले तो PPC क्या है और अगर ऑनलाइन प्रमोशन के फ्री तरीके मौजूद हैं, तो paid तरीका क्यों अपनाया जाये? उससे हमे अलग क्या फायदा होगा ? दूसरा ये paid तरीके से actual में ऑनलाइन मार्केटिंग कैसे होती है | इन सभी बड़े सवालों का जवाब आपको आज इस पोस्ट में हम देने वाले हैं | तो चलिए जानते हैं –

PPC क्या है – What is PPC in Hindi

PPC क्या है

PPC का full form Pay Per Click है | ये एक Online Advertising मॉडल है ,जो advertisers को advertisement platform पर Ad रखने देता है और जब यूजर द्वारा उनके Ad पर क्लिक किया जाता है तो advertisers द्वारा प्लेटफॉर्म के होस्ट को भुगतान किया जाता हैं।

आसान भाषा में बताऊ तो – दोस्तों pay per click या PPC ऑनलाइन एडवरटाइजिंग का तरीका है, जिसमे कई ऑनलाइन प्लेटफार्म जैसे -google का सर्च इंजन ,Facebook प्लेटफार्म और Instagram आदि | जो बिज़नेस प्रमोट करने वाले लोगों को कहते हैं की आप हमारे प्लेटफार्म पर आकर अपने प्रोडक्ट या सर्विस से रिलेटेड Ad बनाये और उसे हमारे ही प्लेटफार्म पर प्रमोट कीजिये |

और आपको पैसा तभी देना होगा जब कोई यूजर आपके Ad पर क्लिक करेगा | यही PPC या pay per click होता है और जैसा की नाम से भी क्लियर होता है – pay per click मतलब की आपको pay तभी करना है जब क्लिक होगा |

आशा है दोस्तों आप अच्छे से समझ गए होंगे की PPC क्या है ये एक Online Advertising का तरीका है या फिर modal है जिसमे तभी आपको पैसा देना है जब आपके ad पर कोई यूजर क्लिक करेगा |

अब कई लोगो के मन ये भी सवाल होता है की ऑनलाइन जब हम अपने प्रोडक्ट या सर्विस की मार्केटिंग free तरीके से भी कर सकते हैं जिसे आर्गेनिक तरीका कहते हैं जैसे की SEO आदि | तो हम पैसा देकर क्यों अपने बिज़नेस को ऑनलाइन प्रमोट करें ?

तो अब आगे जानते हैं की PPC या pay per click मॉडल आखिर किसी बिज़नेस को establish या grow करने के लिए कैसे बहुत जरुरी है –

लेकिन उससे पहले दोस्तों मैंने देखा है की कई लोगो को ये बहुत confusion रहती है की ऑनलाइन मार्केटिंग में ये free और paid तरीके की क्या बात होती है? तो पहले ये उलझन आपकी हम दूर करते हैं –

Organic search Result और Paid Search result में क्या अंतर है

PPC क्या है

Organic Result का मतलब होता है की आपको बिना कोई पैसा दिए अगर आपके वेबसाइट पर यूजर आ रहे हैं | या फिर आपके जो वेब पेज या ब्लॉग पोस्ट हैं वो सर्च इंजन में बिना कोई पैसे दिए टॉप रैंकिंग पा रहे हैं | आर्गेनिक रिजल्ट basically SEO method से आते हैं |

Paid Result का मतलब होता है की आपने किसी सर्च इंजन या फिर किसी ऑनलाइन प्लेटफार्म पर paid Ad चलाये जिसके बाद वहां से आपके वेबसाइट या फिर ब्लॉग पर यूजर आते हैं | ये basically PPC method द्वारा होता है |

आप ऊपर इमेज से भी समझ पा रहे होंगे की जो ऊपर के टॉप रिजल्ट हैं जिनके यूआरएल में सबसे आगे AD का एक बॉक्स है वो paid result हैं और जो नीचे आ रहे हैं वो organic result हैं |

PPC (Pay Per Click) क्यों जरुरी है

अब दोस्तों मैं आपको कुछ पॉइंट्स के जरिये बताता हूँ की PPC method कैसे किसी बिज़नेस की ग्रोथ के लिए बहुत जरुरी है –

1. PPC method आपको जल्दी और लगातार रिजल्ट दिलाते हैं

जैसे की हम सब जानते हैं की आर्गेनिक रिजल्ट या फिर SEO के method से हमारे वेबसाइट पर ट्रैफिक आने में काफी समय लगता है | लेकिन अगर कोई स्टार्टअप बिज़नेस हो जिसे अपनी ब्रांड वैल्यू बनानी हो | ताकि ज्यादा-से-ज्यादा लोग उसके बारे में जाने या फिर कोई फेस्टिवल सीजन चल रहा हो जिसमे बिज़नेस को अपने प्रोडक्ट ज्यादा से ज्यादा बेचने होते हैं |

ऐसे में सबसे बढ़िया तरीका है की आप ऑनलाइन PPC Ad चलाओ जिससे आपको तुरंत रिजल्ट मिलते हैं और अगर आपका बजट ज्यादा हो तो लगातार आपको भर-भर के कस्टमर मिलते रहते हैं |

2. PPC आपके बिज़नेस goal को achieve करने में मदद कर सकता है

हर बिज़नेस का अपना एक goal होता है की yearly हमे ये achieve करना है | इतनी sale करनी है ऐसे में PPC Ad आपके बिज़नेस goal को achieve करने में आपके लिए वरदान साबित हो सकता है |

क्योंकि PPC Ad के जरिये न सिर्फ आपको बहुत जल्दी रिजल्ट मिलते हैं बल्कि टार्गेटड कस्टमर मिलते हैं जिससे आपका conversion Rate काफी high रहता है |

3. बाकि मार्केटिंग मेथड के तुलना में PPC काफी सस्ता है

अगर दोस्तों आप आने बिज़नेस को प्रमोट करने के लिए पारम्परिक मार्केटिंग मेथड अपनाते हो जिसमे आपको बड़े-बड़े बैनर,पोस्टर बनाने होते हैं या फिर टीवी,रेडियो पर Ad चलाने होते हैं तो ऐसी में आपका मार्केटिंग बजट बहुत ज्यादा बढ़ जाता है और वैसा आपको रिजल्ट नहीं दिखाई देते हैं |

लेकिन ऑनलाइन PPC Ad के जरिये आपका मारेक्टिंग बजट बहुत कम लगता है और सबसे पहली बात तो आपको पैसा ही तभी देना है जब कोई यूजर आपके Ad पर आकर क्लिक करेगा तो ऑटोमेटिकली जो रिजल्ट आपको मिलेंगे PPC Ad के जरिये वो awesome होंगे |

4 . PPC Ads के जरिये आप टार्गेटेड और रीमार्केटिंग भी कर सकते हो

जैसा की मैंने आपको ऊपर बताया की गूगल ,facebook या instagram आदि सभी आपको ऑप्शन देते हैं की आप उनके प्लेटफार्म आप अपने बिज़नेस के रिलेटेड Ad बना सकते हैं और प्रमोट कर सकते हो | जब आप इनके पर्टिकुलर प्लेटफार्म पर जाकर Ad डिज़ाइन करते हो तो उसमे आपको दो बेहतरीन ऑप्शन मिलते हैं |

पहला ऑप्शन होता है की आप अपने हिसाब से लोकेशन चुन सकते हो की आप किस एरिया में अपने ad दिखाना चाहते हो और किस interest,age ,gender आदि के लोगो को आप अपना Ad दिखाना चाहते हो | तो आपको PPC Ad के जरिये टार्गेटेड कस्टमर तक पहुंचने का अवसर मिलता है जिससे आपके sale बढ़ने के काफी chances होते हैं |

दूसरा ऑप्शन है की रीमार्केटिंग भी आप कर सकते हो | मतलब की आपने देखा होगा की काफी लोग होते हैं जो Ad पर क्लिक करके वेबसाइट तक पहुंच तो जाते हैं और प्रोडक्ट डिटेल भी read करते हैं लेकिन प्रोडक्ट buy नहीं करते हैं ऐसे में PPC Ad के रीमार्केटिंग ऑप्शन के जरिये आप उस यूजर को हर उस ऑनलाइन प्लेटफार्म पर अपना Ad दिखा सकते हो जहाँ वो यूजर विजिट करता है अब चाहे वो फेसबुक,instagram,youtube या कोई ब्लॉग ही क्यों न हो |

5. PPC Ad के रिजल्ट को आप ट्रैक कर सकते हो

दोस्तों जब आप ऑफलाइन तरीके से मार्केटिंग करते हो तो आप उसमे रिजल्ट को ट्रैक नहीं कर सकते हो की एक्चुअली मेरे किस ad को देखकर लोग आये हैं |

लेकिन ऑनलाइन PPC Ad के रिजल्ट को आप पूरा ट्रैक कर सकते हो जैसे की – प्रति दिन कितने लोगों ने Ad पर क्लिक किया

, किस age,gender के लोगो ने क्लिक किया और किस लोकेशन से किया ,किस डिवाइस से किया और भी बहुत कुछ आप measure या ट्रैक कर सकते हो |

और ये तो दोस्तों आप जानते होंगे की मार्केटिंग रिजल्ट को ट्रैक करना कितना जरुरी है तभी तो आप आगे की मार्केटिंग रणनीति बेहतरीन बना सकते हो |

मुझे पूरी उम्मीद है दोस्तों की मेरे इन पांच पॉइंट्स को पढ़ने के बाद अब आप अच्छे से समझ गए होंगे की किसी भी बिज़नेस की ग्रोथ के लिए आज के दौर में PPC Ad कितने ज्यादा जरुरी हैं |

अब आगे पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं की PPC Ad कितने प्रकार के होते हैं मतलब की आप किस-किस तरीके से PPC Ad चला सकते हो जिससे आपको और ज्यादा आसानी होगी PPC को समझने में ,तो चलिए जानते हैं –

PPC के प्रकार

PPC मुख्य तौर पर 5 प्रकार के होते हैं –

Search advertising

Display advertising

Social media advertising

Remarketing

Google Shopping

Search advertising

PPC क्या है

सबसे पहला PPC का प्रकार है Search advertising जी हाँ, जब आप किसी search engine जैसे की Google,Bing आदि पर अपने PPC Ad चलाते हो तो ये Search advertising कहलाता है |

अब आप में से काफी लोग सोचेंगे की सर्च इंजन में कैसे Ad चलते हैं | जी जरूर चलते हैं खासकर अगर हम Google की ही बात करें जो दुनिया में सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाला सर्च इंजन है तो उसने अलग से एक प्लटफॉर्म Google Ads बनाया है जहाँ पर रजिस्टर करने के बाद कोई भी बिज़नेस ओनर अपने Ad को डिज़ाइन भी कर सकता है और google के सर्च इंजन में भी चला सकता है |

तभी आपने कई बार देखा होगा की जब आप कोई buy करने वाली चीज़ गूगल में सर्च करते हो तो आमतौर पर आपको सबसे ऊपर ऐसे रिजल्ट दिखाई देते हैं जिनके यूआरएल में सबसे आगे AD लिखकर एक बॉक्स आता है वो सभी PPC या paid Ad ही होते हैं |

Display advertising

PPC क्या है

Seach के बाद दूसरा PPC प्रकार है Display advertising, जितने भी ऐसे ब्लॉग हैं जो google Adsense के पार्टनर हैं उनके ब्लॉग पर अगर आपका कोई Ad होता है तो उसे Display advertising कहते हैं |

अब दोस्तों ये तो आपको पता होगा ही की जो भी हम जैसे ब्लॉगर हैं वो सभी google Adsense जो की गूगल का ही एक और प्लेटफार्म है उसके पार्टनर होते ही हैं | अब अगर किसी बिज़नेस वाले ने गूगल Ads पर जाकर display Ads के ऑप्शन को चुन कर ad डिज़ाइन किया तो ऐसे में Ads उन सभी ब्लॉग पर दिखते हैं जो google Adsense के पार्टनर होते हैं जैसा की आपने भी देखा होगा |

Social media advertising

PPC क्या है

अगर आप social media platform (facebook,instagram,linkedin etc) पर paid Ad बनाकर चलाते हो तो इसे Social media advertising कहते हैं | दोस्तों गूगल की ही तर्ज पर सोशल मीडिया प्लेटफार्म भी बिज़नेस करने वालों को ऑप्शन देते हैं की वो उनके प्लेटफार्म पर आकर PPC Ad बनाकर चला सकते हो |

आपने भी कई बार देखा होगा जब आप facebook या instagram के news feed में होते हो तो आपको कुछ Ads दिखाई देते हैं जिनमे sponsored लिखा होता है वो सभी PPC Ad ही होते हैं |

Remarketing

रीमार्केटिंग के बारे में मैंने आपको ऊपर भी बताया था की अगर किसी PPC Ad (जिसने Remarketing के ऑप्शन को चलाया है) उस पर किसी ने क्लिक कर दिया और वेबसाइट पर चला गया प्रोडक्ट को देखा लेकिन उस समय buy नहीं किया |

तो Remarketing ऑप्शन के जरिये उस यूजर को हर ऑनलाइन प्लेटफार्म पर उस पर्टिकुलर वेबसाइट के Ad दिखाई देंगे ऐसा आजकल आप भी जरूर देखते होंगे की अगर आप amazon,फ्लिपकार्ट पर उनके किसी PPC Ad पर क्लिक करके जाते हो लेकिन प्रोडक्ट नहीं लेते हो तो आपको सर्च इंजन ,या किसी ब्लॉग या फिर यूट्यूब,फसेबूक पर उन्ही के Ad दिखाई देते हैं |

तो रीमार्केटिंग भी PPC का ही एक बहुत ही इफेक्टिव प्रकार है |

Google Shopping

PPC क्या है

आजकल तो आपका पता ही है की ऑनलाइन शॉपिंग का दौर है जिसकी वजह से सैकड़ों e-commerce वेबसाइट आजकल हो चुकी हैं | तो PPC में अलग से एक प्रकार होता है Google Shopping

जो mainly e-commerce के लिए ही है | इसमें जो प्रोडक्ट डिटेल है ( product photo,product name, product price) सब सर्च इंजन में राइट साइड या कभी-कभी बिलकुल टॉप पर दिखाई देते हैं जो आपने भी जरूर देखे होंगे ये सभी PPC के प्रकार Google Shopping के ही example हैं |

ये वीडियो हमने WsCube Tech यूट्यूब चैनल से लिया है |

निष्कर्ष

मुझे पूरी उम्मीद है दोस्तों इस पोस्ट के जरिये आपने अच्छे से जान लिया होगा की PPC क्या है ,क्यों जरुरी है और कितने प्रकार का होता है |

दोस्तों अगर आपको हमारा ये पोस्ट useful लगा हो तो प्लीज सोशल मीडिया पर शेयर भी करें और साथ ही हमे भी हमारे सोशल मीडिया पेज पर फॉलो करें और हमारे email newsletter को भी सब्सक्राइब करें ताकि ऐसी ही बढ़िया जानकारी आपको हमारे द्वारा मिलती रहे |

Deepak Bhandari

मेरा नाम दीपक भण्डारी है और मैं उत्तराखंड का रहने वाला हूँ और मुझे इंटरनेट से जुडी चीज़ों खासकर ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जानना और उसके बारे में लिखना बहुत पसंद है | मैं अपने इस ब्लॉग के जरिये सभी को आज के दौर की सबसे बड़ी डिजिटल क्रांति से जोड़ने का प्रयास करता रहूंगा |

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Contact Us