Republic Day Hindi Speech | गणतंत्र दिवस पर भाषण 2023 (Republic Day Speech In Hindi 2023)

Republic Day Hindi Speech | 74rd Republic Day Speech In Hindi | 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में 2023 | गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं | गणतंत्र दिवस पर भाषण : आप यह अवश्य जानते होंगे कि 26 जनवरी 2023, गुरुवार को 74th गणतंत्र दिवस आ रहा है।

गणतंत्र दिवस की तैयारी स्कूल, कॉलेज और अनेक संस्थानों में शुरू हो चुकी है।

गणतंत्र दिवस एक ऐतिहासिक पर्व है क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत संविधान लागू हुआ था। और इस 26 जनवरी को भारतीय संविधान लागू हुए 74 वर्ष पूरे हो रहे हैं। हर साल की तरह इस बार भी 26 जनवरी के दिन को ख़ास तरीके से मनाया जाएगा।

Republic Day Hindi Speech 2023 - 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में 2023 (Republic Day Par Speech Hindi Mai)

Republic Day के महत्व को जानने के लिए अलग – अलग तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम, भाषण, कविता, स्लोगन, स्पीच आदि की प्रतियोगिताएं आयोजित होती है। और इसीलिए आप इंटरनेट पर “Republic Day Speech in Hindi” लिखकर सर्च कर रहे है।

गणतंत्र दिवस पर भाषण का फॉर्मेट लिखने और बोलने के लिए अलग-अलग होता हैं। मैं आपको इस आर्टिकल में दोनों फॉर्मेट में गणतंत्र दिवस भाषण 2023 के बारे में बताऊंगा, जिससे सभी Audience आपकी फैन बन जाएगी।

तो चलिए अब मैं आपको Republic Day Hindi Speech के बारे बताता हूं।

Republic Day Hindi Speech – 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में 2023

26 जनवरी का दिन हर वर्ष हमारे देश में खुशी और उल्लास के साथ गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। 26 जनवरी का दिन इसलिए ख़ास है क्योंकि 26 जनवरी 1950 में भारत का लिखित संविधान लागू हुआ था।

गणतंत्र दिवस के इतिहास व महत्व को जानने के लिए भाषण व निबंध प्रतियोगिताओं का आयोजन हमेशा से किया जा रहा है। इस बार भी 74वां गणतंत्र दिवस पर भी स्कूल, कॉलेज और अनेक संस्थानों व कार्योलयों में सांस्कृति, कविता, निबंध, भाषण इत्यादि प्रकार की प्रतियोगिताएं होगी।

अगर आप गणतंत्र दिवस पर भाषण की प्रतियोगिता में भाग ले रहे है तो आप निम्नलिखित तरीके भाषण बोले। इससे आपकी Audience फैन बन जाएगी जिससे आपको इनाम भी मिल सकता है।

26 जनवरी पर भाषण हिंदी में (74rd Republic Day Speech In Hindi)

गणतंत्र दिवस पर भाषण की शुरुआत ऐसे करें… आदरणीय मुख्य अतिथि महोदय जी, प्रधानाध्यापक, गुरजन और मेरे सभी सहपाठी भाइयों एवं बहनों को 74वां गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!

हमारे भारत देश में 26 जनवरी का दिन इतिहास और संस्कृति के लिए काफी महत्वपूर्ण है। इसीलिए इस दिन को हर साल भारत में एक पर्व के रूप में मनाया जाता है। और स्कूल व कॉलेज में गीत, डांस, चित्रकला, कविता, निबंध, भाषण आदि की प्रतियोगिताएं आयोजित होती है।

और इस दिन 26 जनवरी 1950 के समय के इतिहास को भी याद किया जाता है। भारत में हर साल की तरह भव्य गणतंत्र दिवस पर परेड होती है, जो 3 घंटे तक चलती है। यह परेड राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक, राजपथ से होकर जाती है।

26 जनवरी के दिन अनेक तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम होते है, जिसमें बच्चे अलग – अलग वेशभूषा में अपनी प्रस्तुति देते है। इस दिन की मदद से हम अपनी संस्कृति को भी जिंदा रखते है।

गणतंत्र दिवस का इतिहास (How Much Year Of Republic Day)

अगर में 26 जनवरी के इतिहास की बात करूं तो 26 जनवरी 1950 को भारत का लिखित संविधान लागू किया गया था। वैसे भारत का पूर्ण लिखा हुआ संविधान 26 नवंबर 1949 को ही प्रस्तुत कर दिया गया था, लेकिन इसे आधिकारीक तौर पर 26 जनवरी 1950 में लागू किया गया।

15 अगस्त 1947 में हमारा देश गुलामी की बेड़ियों से आजाद हो गया था लेकिन देश की शासन व्यवस्था को चलाने के लिए कोई भी संविधान नही था। और बिना संविधान के देश को नही चलाया जा सकता था।

Advertisement

ऐसे में उस समय एक संविधान सभा का गठन किया गया और भारत देश का संविधान बनाया गया। लेकिन संविधान निर्माण में डॉ. भीमराव अंबेडकर की सबसे अहम भूमिका रही थी। हमारे देश के संविधान को बनने में 2 साल 11 महीनें 18 दिन का समय लगा था।

भारत के इस संविधान को गहन विचार विमर्श, मंथन और कई बैठकों के बाद बनाया गया, और फिर 26 जनवरी 1950 में आधिकारीक रूप से लागू किया गया। इसके बाद भारत देश को लोकतांत्रिक, संप्रभु और गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया।

इसी संविधान की मदद से ही भारत के सभी जाति और वर्ग के लोग एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। हमारे देश का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है, जिसे लिखने के लिए 2 वर्ष, 11 महीने और 18 दिन लगे थे।

हमारा संविधान 26 नवंबर 1949 में तैयार हो गया था, लेकिन इसी दिन 1930 में कांग्रेस के अधिवेशन में भारत को पूर्ण स्वराज की घाषणा की गयी थी। इसलिए भारतीय संविधान को 26 जनवरी 1950 में आधिकारीक रूप से लागू किया गया था।

गणतंत्र दिवस भाषण 2023 (Republic Day Speech In Hindi Short)

26 जनवरी को भारत का संविधान लागू होने के कारण इस दिन को विशेष त्यौहार के रूप में मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर विशाल गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन किया जाता है, जिसमें राष्ट्रपति तिरंगा झंडा फहराते हैं।

इस दिन राष्ट्रगान और ध्वजारोहण के साथ 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है। और साथ ही अशोक चक्र और कीर्ति चक्र जैसे महत्वपूर्ण सम्मान भी दिए जाते हैं। राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक राजपथ पर अलग – अलग तरह की झांकियां निकलती है, जो भारत की विविधता में एकता की झलक दिखाती है।

इसी राजपथ पर परेड भी होती है, जिसमें भारत की तीनों सेना- नौ सेना, थल सेना और वायु सेना की टुकड़ियां शामिल होती हैं। हमारा गणतंत्र दिवस केवल यहीं तक समाप्त नही होता है, बल्कि 29 जनवरी को ‘बीटिंग रिट्रीट‘ सेरेमनी के साथ गणतंत्र दिवस समाप्त होता है।

हमारे देश को लोकतांत्रिक देश बनाने में कई स्वतंत्रता सेनानियों का योगदान रहा हैं। उनका सपना यही था कि हमारा देश लोकतांत्रिक बनकर तेजी से प्रगति करे। 

लेकिन हम सब जानते है कि देश को आजादी मिलने और संविधान लागू होने के कई वर्षों बाद भी आज भारत में भ्रष्टाचार, हिंसा, अपराध, आतंकवाद, नक्सलवाद, गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा जैसी समस्याएं काफी ज्यादा है।

इस गणतंत्र के पावन अवसर पर हम पर्ण ले सकते है कि हम इन समस्याओं को खत्म करने की पूरी कोशिश करेंगे। अगर हमने यह कर दिखाया तो आने वाले गणतंत्र दिवस पर भारते देश का हुलिया ही अलग होगा।

मैं इन समस्याओं को खत्म करने का पर्ण लेते हुए अपने भाषण को यहीं समाप्त करना चाहूँगा। जय हिंद… जय भारत.

गणतंत्र दिवस पर निबंध (Republic Day Essay Speech In Hindi)

अभी मैने आपको 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में कैसे बोले, के बारे बताया है। चलिए अब मैं आपको बताता हू कि गणतंत्र दिवस पर निबंध कैसे लिखे?

आप गणतंत्र दिवस पर निबंध को कम से कम शब्दों में लिखे, लेकिन जानकारी पूरी अवश्य दे। आप गणतंत्र दिवस पर निबंध को 4 से 6 बिंदुओं में लिखे, जिसमें निबंध के शुरूआत में प्रस्तावना और अंत में उपसंहार लिखना जरूरी है।

आप निम्नलिखित बिंदुओं पर अपना पूरा निबंध लिख सकते हैं-

  1. प्रस्तावना
  2. गणतंत्र दिवस क्यों मनाते है (इतिहास)
  3. भारत में गणतंत्र दिवस का महत्व
  4. गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ रोचक तथ्य
  5. उपसंहार – संस्कृति की झलक

आप उपरोक्त बिंदुओं को अपने निबंध में लिख सकते है। 

Bonus Tips: अगर आप Republic Day Essay in Hindi की प्रतियोगिता में भाग ले रहे है तो उपरोक्त तरीके से आर्टिकल को लिखने के अलावा आप निबंध में श्लोगन का उपयोग करें और साथ ही निबंध के अंत में गणतंत्र दिवस से संबंधित साधारण चित्र (डायग्राम) बनाए।

Republic Day Speech In Hindi 10 Lines – गणतंत्र दिवस निबंध हिंदी में 10 लाइन

आप Republic Day Hindi Speech को 10 पंक्तियों में भी लिख सकते हैं, जैसे-

  1. हम 26 जनवरी के दिन देश के राष्ट्रीय पर्व के रूप में गणतंत्र दिवस को मनाते हैं।
  2. 26 जनवरी 1950 के दिन भारतीय संविधान को लागू किया गया था।
  3. भारतीय संविधान को बनाने में डॉ. भीमराव अम्बेडकर का अहम योगदान था, इसलिए इन्हे भारत के संविधान का पिता कहा जाता है।
  4. हमारे देश का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है, जिसे 2 वर्ष 11 महीने 18 दिनों में तैयार किया गया था।
  5. भारत के संविधान की प्रस्तावना में कहा गया है कि भारत देश एक संप्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक गणराज्य है।
  6. इस राष्ट्रपति तिरंगे को फहराते है, और साथ ही राजघाट पर शहीदों को 12 तोफो की सलामी दी जाती हैं।
  7. गणतंत्र दिवस के दिन राष्ट्पति भवन से इंडिया गेट तक राजपथ पर बड़ी परेड होती है।
  8. राजपथ पर झांकियां और देश की तीनो सैनाओं की शक्तियों का प्रदर्शन किया जाता है।
  9. इस दिन देश के सभी स्कूल और कॉलेजों में विभिन सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होता है।
  10. 26 जनवरी को भाषण और वाद-विवाद जैसी अनेक प्रतियोगिताएं होती है, और विजेताओं को ईनाम भी मिलता है।

नोट: अगर आपको Republic Day Speech In English 10 Lines चाहिए तो आप उपरोक्त हिंदी लाइन्स को Google Translator की मदद से अंग्रेजी भाषा में बदल सकते है।

FAQs – Republic Day Speech in Hindi

26 January Bhashan In Hindi से संबंधित कुछ FAQs के बारे में जाने।

26 जनवरी को हिंदी में क्या बोलता है?

26 जनवरी भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है, जिसे हिंदी में गणतंत्र दिवस बोलते है। और इसे अंग्रेजी भाषा में Republic Day बोलते है।

गणतंत्र दिवस पर भाषण कैसे दे?

गणतंत्र दिवस पर भाषण देने के लिए आपको इसके महत्व और इतिहास को समझना होगा। इसके बाद आपको अपने पूरा भाषण याद करना होगा, और फिर कांच के सामने उस भाषण की प्रेक्टिस करनी होगी।

भारत के गणतंत्र क्यों कहा जाता है?

भारत देश को गणतंत्र इसीलिए कहा जाता है क्योंकि हमारे देश में जनता का, जनता के लिए, जनता द्वारा शासन होता है। कुल मिलाकर हम यह कह सकते है कि जनता का राज।

भारत में गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?

भारत में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि इस दिन हमारे देश का लिखित संविधान लागू हुआ था।

भारत में गणतंत्र दिवस पर भाषण कौन देता है?

गणतंत्र दिवस पर भाषण देश का पहला नागरिक देता है जो कि राष्ट्रपति होता है।

Conclusion: Republic Day Hindi Speech – गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

भारत के संविधान के अनुसार भारत देश एक गणतंत्र देश है, जिस पर जनता का राज चलता है। भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था, इसीलिए आज भी 26 जनवरी को एक राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है। कई स्कूल और कॉलेज में Republic Day Hindi Speech की प्रतियोगिताएं होती है।

मैने इस आर्टिकल में केवल आपके लिए काफी मेहनत के साथ Republic Day 2023 Speech को लिखा है। आप इस आर्टिकल के गणतंत्र दिवस के भाषण की मदद से प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हासिल कर सकते है और ईनाम भी प्राप्त कर सकते है। वैसे इस दिन निबंध प्रतियोगिताएं भी होती है, इसलिए मैने गणतंत्र दिवस पर निबंध लिखने का तरीका भी बताया हैं।

उम्मीद है कि इस आर्टिकल की मदद से आपको अपना Republic Day Hindi Speech बनाने में काफी मदद मिलेगी।

लेटेस्ट आर्टिकल:

अनौपचारिक पत्र कैसे लिखें? (5’पाँच उदाहरण’, प्रकार और प्रारूप) अनौपचारिक पत्र का फॉर्मेट क्या होता है

Patrakarita Kise Kahate Hain – पत्रकारिता क्या है और पत्रकारिता लेखन क्या है जाने पूरी जानकारी

Sharing Is Caring:
digitalbhandari

DeepakBhandari.in एक बेस्ट हिंदी ब्लॉग लिस्ट में सामिल है जिसपर घर बैठे पैसे कैसे कमाए और पैसा कमाने वाला गेम और पैसा कमाने वाला ऐप साथ-साथ अपना खुदका ब्लॉग शुरू कैसे करें सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध है जिसे पैसिव इनकम कर सके | यदि आपको इसे जुड़े कोई जानकारी चहिये तो यह हिंदी के बेहतरीन ब्लॉग आपके लिए है |

Leave a Comment