On page SEO क्या है और कैसे किया जाता है – पूरी जानकारी

आज के खास पोस्ट में हम आपको SEO के सबसे अहम भाग on page SEO क्या है ? इसके बारे में बताएंगे | काफी नये ब्लॉगर on page SEO को लेकर ज्यादा seriously काम नहीं करते और यही कारण होता है की आपके पोस्ट काफी बैकलिंक बनाने के बाद भी रैंक नहीं हो पाते |

दोस्तों अगर आप अपने ब्लॉग पर क्वालिटी पोस्ट लिखने के साथ -साथ उस पर अच्छे से on page SEO भी करते हो तो आपको बहुत ज्यादा बैकलिंक बनाने की जरुरत नहीं पड़ती और आपके काफी कम्पटीशन वाले कीवर्ड भी रैंक हो सकते हैं |

on page SEO करने के पीछे सबसे बड़ा उद्देश्य यही होता है की गूगल या फिर बाकि सर्च इंजन को पता चल सके की आपके ब्लॉग पर किस तरीके का कंटेंट है ताकि वो अपने search engine result page पर रिलेटेड query या सवाल के जवाब में आपके पोस्ट के लिंक को show कर पाये |

इसलिए ब्लॉग पर on page SEO को अच्छे से करना बहुत ज्यादा जरुरी है लेकिन कई न्यू ब्लोग्गेर्स को सही से on page SEO की जानकारी नहीं होती जिससे उन्हें रैंकिंग में काफी परेशानी आती है |

आज हम आपको इस पोस्ट में विस्तार से बताने वाले हैं की on page SEO क्या है,क्यों जरुरी है और कैसे किया जाता है | तो चलिए शुरू करते हैं –

Contents

on page SEO क्या है

On page SEO क्या है

on page SEO एक ऐसा प्रोसेस जिसके जरिये हम अपने ब्लॉग पोस्ट या वेब पेज के अंदर ही कुछ ऑप्टिमाइजेशन करते हैं ताकि हमारा ब्लॉग या वेबसाइट गूगल या बाकि सर्च इंजन में रैंक हो पाये |

अगर दोस्तों मैं आपको सीधे तौर पर समझाऊं तो ये है की – हम ब्लॉगर चाहते हैं की गूगल जो की दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है उसके search engine result page (SERP) पर हमारा भी पोस्ट का लिंक टॉप पर दिखाई दे, लेकिन इसके लिए हमे गूगल के बताये guideline के हिसाब से अपने पोस्ट को ऑप्टिमाइज़ करना होगा |

इसलिए हम जब अपने ब्लॉग पोस्ट के अंदर गूगल द्वारा बताये गए guideline के हिसाब से ऑप्टिमाइज़ करते हैं तो इस प्रोसेस को on page SEO कहा जाता है |

और इसके पीछे हमारा यही मकसद होता है की हमारा पोस्ट, गूगल के हिसाब से परफेक्ट हो जाये ताकि वो हमारे पोस्ट को अपने search engine result page (SERP) में दिखा सके और हमे अपने ब्लॉग के लिए बहुत सारा organic ट्रैफिक मिल सके |

Digital Marketing क्या है और क्यों जरुरी है – जानिए

ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए ? जानिए इन 10 तरीकों से

मुझे पूरी उम्मीद है दोस्तों आप समझ ही गए होंगे की on page SEO क्या है ? लेकिन शायद अभी आप ये जरूर सोच रहे होंगे on page SEO करना जरुरी क्यों है? इससे हमारे ब्लॉग की ग्रोथ मिलेगी मतलब की क्या हमारे ब्लॉग पर क्वालिटी ट्रैफिक आ पायेगा | तो चलिए जानते हैं on page SEO क्यों जरुरी है ?-

on page SEO क्यों जरुरी है

काफी सारे नये ब्लॉगर ये तो जानते हैं की ब्लॉग पर SEO करना बेहद ज्यादा जरुरी है ब्लॉग पर ट्रैफिक लाने के लिए लेकिन SEO के पहले पार्ट on page SEO को लेकर नये ब्लॉगर ज्यादा गंभीर नहीं होते हैं उन्हें लगता है की ज्यादा इम्पोर्टेन्ट बैकलिंक बनाना है तभी पोस्ट गूगल में टॉप पर रैंक होगा |

लेकिन ये बिलकुल भ्रम है दोस्तों गूगल के नये अपडेट के अनुसार अब आपको ज्यादा ध्यान on page SEO में ही देना है जिसमे कई सारी चीज़ें आती है जिनके बारे में हम आपको नीचे विस्तार से बताने वाले हैं |

हालाँकि बैकलिंक भी जरुरी है लेकिन सबसे पहले आपको on page SEO को अच्छे से समझकर उसे अपने ब्लॉग पर इम्प्लीमेंट करना है तभी आपको रैंकिंग मिल पायेगी |

तो आइये दोस्तों मैं आपको बताता हूँ की आखिर on page SEO क्यों बहुत जरुरी है ? –

एक ब्लॉगर के लिए गूगल का सर्च इंजन सबसे बड़ा सोर्स है क्वालिटी ट्रैफिक अपने ब्लॉग पर लाने का लेकिन इतनी आसानी से आपको गूगल से ट्रैफिक नहीं मिलेगा जब तक आपके ब्लॉग पोस्ट गूगल पर रिलेटेड query या सवाल के जवाब में टॉप पर रैंक न हो |

जैसे की मैंने आपको ऊपर ही बताया है की गूगल के कुछ guideline या method हैं जिनको पूरा करने के बाद ही आप अपने ब्लॉग पोस्ट को टॉप रैंकिंग दे सकते हो | और जो ये गूगल की guideline हैं ये ज्यादा ब्लॉग और ब्लॉग पोस्ट के अंदर आपको अप्लाई करने पड़ते हैं |

जब आप अपने ब्लॉग और ब्लॉग पोस्ट पर अच्छे से on page SEO करते हो तो गूगल के bot या स्पाइडर जो आपके ब्लॉग आर्टिकल पर आते हैं और crawl करते हैं और आपके कंटेंट देखते हैं तो उन्हें समझ आता है की ये आर्टिकल इस query का जवाब दे रहा है| तब वो अपने सर्च इंजन में उसे रिलेटेड query के जवाब में रैंक देते हैं |

तो कुल मिलाकर आप ये समझ लीजिये दोस्तों की जितना ज्यादा स्ट्रांग आपका on page SEO होगा ब्लॉग पर उतनी ही ज्यादा आपकी संभावना हैं कि आप गूगल के सर्च इंजन पर टॉप में लम्बे समय तक रैंकिंग हासिल करोगे और भर -भर के आपको ट्रैफिक मिलता रहेगा |

on page SEO और Off page SEO में क्या अंतर है

काफी नये लोग जो ब्लॉग्गिंग या डिजिटल मार्केटिंग फील्ड से जुड़ते हैं और SEO में on page SEO और Off page SEO को लेकर भी काफी कंफ्यूज में रहते हैं की ये दोनों अलग हैं या नहीं ?

तो सबसे पहले मैं आपको बता दूँ की ये दोनों SEO के मेथड हैं और दोनों अलग -अलग हैं आइये दोनों में फर्क को जानते हैं –

on page SEO के दौरान हम सिर्फ अपने ब्लॉग या वेबसाइट के अंदर ही कुछ बदलाव करते हैं या फिर ये कहें की गूगल की guideline के हिसाब से अपने ब्लॉग पोस्ट या वेब पेज को ऑप्टीमाइज़्ड करते हैं जैसे की – खास जगह पर अपने कीवर्ड को प्लेस करते हैं और ब्लॉग की लोडिंग स्पीड फ़ास्ट करते हैं और भी बहुत कुछ सिर्फ ब्लॉग के अंदर ही करते हैं |

लेकिन Off page SEO के अंदर हम अपने ब्लॉग को outside से प्रमोट करते हैं जैसे की सोशल मीडिया पर अपने ब्लॉग को प्रमोट करते हैं या फिर किसी और वेबसाइट से बैकलिंक लेते हैं ताकि हमारे ब्लॉग की अथॉरिटी गूगल में बढ़ जाये और हमारी रैंकिंग इम्प्रूव हो तो कुल मिलाकर Off page SEO में हम ब्लॉग को बहार से प्रमोट करते हैं उसे और स्ट्रांग बनाते हैं |

अभी तक के पोस्ट में हमने जाना की on page SEO क्या है ,क्यों जरूरी है और on page SEO और Off page SEO में क्या अंतर है लेकिन अभी भी एक बड़ा सवाल आपका यही होगा की on page SEO कैसे किया जाता है ? तो चलिए अब हम आपको बिलकुल विस्तार से बताते हैं –

on page SEO कैसे करें

दोस्तों अब हम आपको step-by-step बताने वाले हैं की आप अपने ब्लॉग पर बढ़िया तरीके से On page SEO कैसे कर सकते हो –

Step #1 – SEO plugins इनस्टॉल करें (Yoast SEO या rank math)

On page SEO क्या है

अगर आपका ब्लॉग WordPress पर है हालाँकि अधिकतर ब्लॉग WordPress पर ही बने होते हैं तो ब्लॉग को डिज़ाइन करने के साथ ही आपको Yoast SEO या rank math में किसी एक प्लगइन को जरूर इनस्टॉल करके activate करना है और साथ ही उनकी सेटिंग भी करनी है |

Yoast SEO या rank math दोनों बहुत ही पॉपुलर प्लगइन हैं जो आपके ब्लॉग पर On Page SEO को बेहतर तरीके से इम्प्लीमेंट करने में आपकी बहुत हेल्प करते हैं |

इन प्लगिन्स के जरिये आप गूगल और बाकि सर्च इंजन में अपने ब्लॉग को आसानी से सबमिट कर सकते हो उसके अलावा sitemap submissions ,robots.txt सेटिंग आदि बहुत से सेटिंग जो On Page SEO में बहुत जरुरी है ये सब आप इन SEO प्लगिन्स से मैनेज कर सकते हो |

साथ ही जब आप पोस्ट लिखते हो उस समय आपका टाइटल,यूआरएल और meta सब SEO के मुताबिक सही है या नहीं ये प्लगिन्स बताते हैं तो कुल मिलाकर अगर आप WordPress प्लेटफार्म का प्रयोग करते हो तो आपको Yoast SEO या rank math में से किसी एक प्लगइन को जरूर इस्तेमाल करना है |

Step #2 – कीवर्ड रिसर्च करें

दूसरा आपको ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले अच्छे से कीवर्ड रिसर्च करना है की आप किस कीवर्ड को टारगेट करके पोस्ट लिखना चाहते हो ये आपको बिलकुल क्लियर होना चाहिए |

अगर आप डिटेल में कीवर्ड रिसर्च के बारे में जानना चाहते हो तो इस पर मैंने एक अलग से पोस्ट लिखा है जिसमे मैंने कीवर्ड के सारे पॉइंट्स कवर किये उसे में नीचे शेयर कर रहा हूँ आप उसे भी जरूर पढ़ लें |

Keyword क्या है और क्यों जरुरी है – पूरी जानकारी

Step #3- User intent समझकर ब्लॉग पोस्ट का structure बनाये

देखो दोस्तों गूगल कभी भी ये नहीं चाहता की लोगो का सवाल पूछने के पीछे कुछ और मतलब था और गूगल उन्हें कुछ और ही जवाब दिखा रहा है बिलकुल भी नहीं | गूगल हमेशा प्रयास यही करता है की user ने जो सवाल पूछा है उसका जो intent है उसी के मुताबिक जिस आर्टिकल या पोस्ट उसका जवाब दिया गया है उसे ही टॉप रैंकिंग दी जाये |

इसलिए जब भी आप कीवर्ड रिसर्च कर लेते हो तो समझने की कोशिश करें की इसमें यूजर आखिर पूछ क्या रहा है ? उसी क्या जानना है और फिर अपने ब्लॉग के स्ट्रक्चर को उसके हिसाब से प्लान करें की आपका की हैडिंग क्या होगी आप किस तरीके से जानकारी उसे देंगे की वो बेस्ट होगी उसके लिए इन सबका ध्यान रखें |

Step #4 – ब्लॉग पोस्ट के टाइटल को असरदार बनाये और कीवर्ड उसमे जोड़ें

On page SEO क्या है

अब जब भी आप ब्लॉग लिखना शुरू कर रहे हो तो सबसे पहले ब्लॉग के टाइटल को आपको ऐसा रखना है की समझ आ जाये की ब्लॉग पोस्ट किस टॉपिक के ऊपर based है साथ ही ब्लॉग के Title में आपको जरूर अपने main कीवर्ड का इस्तेमाल करना ही है |

क्योंकि आपने देखा ही होगा की गूगल के सर्च इंजन में सबसे पहले टाइटल ही दिखाया जाता है इसलिए गूगल के bot ब्लॉग पर सबसे पहले टाइटल को ज्यादा देखते हैं |

और आपका ब्लॉग टाइटल ऐसा भी होना चाहिए की कोई भी देखे तो उसे मन करे की इस ब्लॉग को जरूर एक बार पढ़ना चाहिए |

Step #5 – ब्लॉग के यूआरएल को छोटा रखें और कीवर्ड जोड़ें

टाइटल के बाद आपको ध्यान रखना है की आपके ब्लॉग पोस्ट के यूआरएल पहले तो जितना हो सके छोटा रखें उसे ऐसा रखें की आसानी से समझ पाएं काफी हिंदी ब्लॉग अपने ब्लॉग पोस्ट के यूआरएल को हिंदी में बनाते हैं ये बिलकुल सही नहीं SEO के पॉइंट से आप अपने ब्लॉग पोस्ट के यूआरएल में hinglish तरीके से जोड़ सकते हैं जैसे की – SEO kya hai आदि |

साथ ही आपको ब्लॉग के टाइटल के सामान ही यूआरएल में भी अपने main कीवर्ड को जरूर इस्तेमाल करना है क्योंकि ये भी गूगल के सर्च रिजल्ट पेज में दिखाई देता है आपने भी ये नोट जरूर किया होगा |

Step #6 – meta डिस्क्रिप्शन ऐड करें और उसमे कीवर्ड का इस्तेमाल जरूर करें

On page SEO क्या है

टाइटल और यूआरएल के बाद आपको ब्लॉग में मेटा डिस्क्रिप्शन को भी ऐड करना है अगर आप WordPress में SEO plugins का इस्तेमाल करते हो तो आप आसानी से ब्लॉग पोस्ट में मेटा डिस्क्रिप्शन जोड़ सकते हो |

और मेटा डिस्क्रिप्शन में अपना main कीवर्ड जरूर जोड़ना है क्योंकि इसको भी गूगल के bot बहुत ध्यान से crawl करते हैं और पोस्ट के छोटे डिस्क्रिप्शन के रूप में अपने सर्च इंजन रिजल्ट पेज में दिखाते भी हैं |

Step #7 – ब्लॉग में हैडिंग (h1,h2,h3…) का इस्तेमाल जरूर करें

वैसे तो दोस्तों अगर आप ब्लॉग में हैडिंग का इस्तेमाल करते हो तो इसका डायरेक्ट फायदा आपको रैंकिंग में नहीं मिलता लेकिन जब आप ब्लॉग को हैडिंग ऐड करके लिखते हो तो ब्लॉग का बहुत ही बढ़िया स्ट्रक्चर बनता है जिससे यूजर को पोस्ट आसानी से समझ में आता है जिसकी वजह से गूगल समझता है की पोस्ट बहुत ही organize तरीके से लिखा गया है यूजर अच्छे से कनेक्ट होगा और आपको रैंकिंग देता है |

इसलिए ब्लॉग पोस्ट में हमेशा सही तरीके हैडिंग (h1,h2,h3…) का इस्तेमाल करें और साथ ही हैडिंग में नेचुरल तरीके से कीवर्ड को प्लेस जरूर करें चाहे वो main कीवर्ड हो या फिर LSI कीवर्ड ही क्यों न हो |

Step 8 – ब्लॉग पोस्ट को छोटे-छोटे पैराग्राफ में लिखें और कीवर्ड stuffing न करें

ब्लॉग पोस्ट को हमेशा 2 या 3 लाइन के छोटे -छोटे पैराग्राफ में लिखें इससे यूजर आपके ब्लॉग पर बना रहता है और उसे अच्छे से पोस्ट का कंटेंट समझ में आता है जिससे वो आपके बोग से engage रहता है और आपका bounce rate कम होता और end आपको इसका रैंकिंग में फायदा मिलता है |

काफी सारे न्यू ब्लॉगर गलती करते हैं की पुरे ब्लॉग पोस्ट में भर -भर के कीवर्ड डालते हैं ताकि गूगल के bot उन्हें देखकर टॉप रैंकिंग दें लेकिन इससे आपको फायदा नहीं बल्कि नुकसान होगा क्योंकि गूगल इसे अब keyword stuffing समझता है मतलब की आप जबरदस्ती कीवर्ड पोस्ट में डाल रहे हो |

जबकि आपको बिलकुल नेचुरल तरीके से कीवर्ड का इस्तेमाल ब्लॉग पोस्ट में करना चाहिए |

Step #9 – ब्लॉग पोस्ट Image के alt tag में कीवर्ड को जोडें

दोस्तों गूगल के SERP में सिर्फ पोस्ट ही रैंक नहीं होते बल्कि इमेज टैब में image भी रैंक होते हैं इसलिए आपको अपने ब्लॉग पोस्ट के इमेज में जो alt tag का ऑप्शन होता है उसमे अपने main कीवर्ड को इस्तेमाल है |

Step #10 – ब्लॉग पोस्ट में Internal linking और आउटबाउंड linking जरूर करें

दोस्तों मान लो कोई आपका पोस्ट SEO क्या है उसे पढ़ने आये जिसमे आपने बताया की कीवर्ड रिसर्च करना बहुत जरुरी है लेकिन उस यूजर को कीवर्ड के बारे ज्यादा पता नहीं तो अगर वहां पर आपने अपने कीवर्ड वाले पोस्ट का लिंक दिया होगा तो उस यूजर को अच्छे से जानकारी मिल पायेगी |

और यही चीज़ गूगल पसंद करता है की आप अपने रिलेटेड पोस्ट का लिंक अपने करंट में पोस्ट में जोड़ें जिसे आमतौर पर internal linking कहते हैं | तो ये आपको जरूर करना है आपको रैंकिंग में मदद मिलती है |

इसके अलावा आपको एक आउटसाइड लिंक चाहे वो कोई वीडियो का हो या फिर किसी आर्टिकल का हो जो की आपके पोस्ट से रिलेटेड ही जानकारी दे रहा हो उसे भी जरूर ऐड करें लेकिन एक ही आपको आउटसाइड का लिंक जोड़ना है ये भी SEO में मदद करता है |

Step #11 – Blog को मोबाइल friendly (responsive) बनाये

On page SEO क्या है

अब लोग बहुत ज्यादा अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं इसलिए आपके viewer सिर्फ लैपटॉप ,डेस्कटॉप पर नहीं बल्कि टेबलेट और स्मार्टफोन में भी हैं इसलिए आपके ब्लॉग का थीम ऐसा होना चाहिए की आपके ब्लॉग को किसी भी डिवाइस में ओपन किया जाये वो अच्छे से दिखे यूजर को पोस्ट पढ़ने में कोई परेशानी न हो कुल मिलाकर आपका ब्लॉग मोबाइल फ्रेंडली या रेस्पॉन्सिव होना जरुरी है |

और गूगल ने इसे अब सभी साइट्स के लिए अनिवार्य भी कर दिया है मतलब जिसकी साइट रेस्पॉन्सिव नहीं होगी वो कभी भी रैंक नहीं हो पायेगी |

Step #12 – ब्लॉग की लोडिंग स्पीड अच्छी रखें

2021 में गूगल के अपडेट में सबसे बड़ी बात यही है की अगर किसी के ब्लॉग को load होने में बहुत ज्यादा समय लगेगा मतलब की यूजर को wait करना पड़ेगा तो वो ब्लॉग टॉप रैंकिंग नहीं हासिल कर पायेगा |

इसलिए अपने ब्लॉग की लोडिंग fast करनी की तरफ खास ध्यान दें जिसके लिए आपको अपने ब्लॉग पर use होने वाली images को compress करके प्रयोग करनी चाहिए |

और अपने ब्लॉग पर cache प्लगइन का प्रयोग भी करना चाहिए ब्लॉग की लोडिंग स्पीड चेक करने के लिए आप गूगल के Page Speed Insights या GTmetrix का प्रयोग कर सकते हो जहाँ आपको ये भी पता चलेगा की आपका ब्लॉग आखिर क्यों जल्दी load नहीं हो रहा है |

Step #13 – क्वालिटी कंटेंट लिखें और कॉपी न करें |

बहुत जरुरी है दोस्तों की आपको अपने ब्लॉग पोस्ट में बिलकुल क्वालिटी कंटेंट लिखना है | अब काफी नये लोग क्वालिटी कंटेंट का मतलब समझते हैं की जितना ज्यादा वर्ड का लिखेंगे वो क्वालिटी कंटेंट होता है, बिलकुल नहीं |

क्वालिटी कंटेंट की मतलब है की आपने यूजर के सवाल को सही से समझकर उसका बेहतर तरीके अपने पोस्ट में जवाब दिया है और आपने अपने पोस्ट को सही तरीके से स्ट्रक्चर किया है ताकि यूजर बहुत ही आसानी से पोस्ट में कंटेंट को समझ सके |

दूसरी बात कभी भी किसी और पोस्ट से कॉपी करके कंटेंट न लिखें और न ही इमेज का इस्तेमाल करें क्योंकि इससे आप पर कॉपीराइट उल्ल्घन का आरोप लगेगा | आपको इमेज के लिए फ्री साइट्स जैसे – Unsplash,Pexels, Pixabay आदि का प्रयोग करना है |

Step #14 – ब्लॉग का डिज़ाइन अच्छे से करें

बहुत बार मैंने देखा है की नये ब्लॉगर के केटेगरी ही नहीं बनी होती हैं या फिर उनके इम्पोर्टेन्स पेज नहीं बने होते हैं | आपको सबसे पहले थीम इनस्टॉल करने के बाद अपनी ब्लॉग के टॉपिक के हिसाब से category बनानी हैं |

और उन्हें अपने navigation या menu bar में add करना है इसके अलावा ब्लॉग के साइडबार में जरुरी चीज़े ही रखने जैसे की ईमेल newsletter ,पॉपुलर पोस्ट ,सर्च bar या फिर सोशल मीडिया फॉलो आइकॉन बस इतना ही रखें ज्यादा कुछ न जोड़ें |

इसके अलावा फुटर में इम्पोर्टेन्ट केटेगरी add करें दूसरे सेक्शन में ब्लॉग का थोड़ा ओवरव्यू दें और सोशल मीडिया आइकॉन भी आप प्रयोग कर सकते हैं |

साथ ही आपके हर पोस्ट के नीचे सोशल share आइकॉन होना बेहद जरुरी है साथ ही रिलेटेड पोस्ट विजेट भी जरूर प्रयोग करें

अपने about ,contact और privacy policy पेज को अच्छे से डिज़ाइन करें उसमे अच्छे कंटेंट डाले बहुत से ब्लॉगर ये नहीं करते जिससे उनको रैंकिंग नहीं मिलती कई बार और adsense अप्रूवल भी नहीं मिलता है |

Step #15 – ब्लॉग पोस्ट को अपडेट करते रहें

अपने पुराने ब्लॉग पोस्ट को समय -समय पर अपडेट करते रहें क्योंकि जरुरी नहीं जो जानकारी आपने 2 साल पहले दी हो वो अभी भी वैलिड हो | हो सकता आपको उस पोस्ट में कुछ और जानकारी बदलने या ऐड करने की जरुरत हो तो जरूर करें इस पर गूगल भी अब बहुत ध्यान देता है की जो पोस्ट अपडेटेड होंगे की उन्हें ही रैंकिंग मिलेगी टॉप पर | इसलिए समय -समय पोस्ट अपडेट करते रहें |

ये वीडियो हमने WsCube Tech यूट्यूब चैनल से लिया है

निष्कर्ष

अंतिम में मैं कहना चाहूंगा की अपने ब्लॉग में क्वालिटी कंटेंट लिखने के साथ -साथ गूगल के सर्च इंजन द्वारा दिए guideline या फिर ये कहें की बढ़िया तरीके से On page SEO भी अपने ब्लॉग पर करें जिससे sure है की आपके पोस्ट गूगल में टॉप रैंकिंग हासिल करेंगे और आपको ट्रैफिक मिलना शुरू होगा |

आखिर में दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है की मेरे इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको अच्छे से जानकारी हो गयी होगी की On page SEO क्या है और कैसे किया जाता है |

दोस्तों अगर आपको हमारा ये पोस्ट useful लगा हो तो प्लीज सोशल मीडिया पर शेयर भी करें और साथ ही हमे भी हमारे सोशल मीडिया पेज पर फॉलो करें और हमारे email newsletter को भी सब्सक्राइब करें ताकि ऐसी ही बढ़िया जानकारी आपको हमारे द्वारा मिलती रहे |

Deepak Bhandari

मेरा नाम दीपक भण्डारी है और मैं उत्तराखंड का रहने वाला हूँ और मुझे इंटरनेट से जुडी चीज़ों खासकर ब्लॉग्गिंग और डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जानना और उसके बारे में लिखना बहुत पसंद है | मैं अपने इस ब्लॉग के जरिये सभी को आज के दौर की सबसे बड़ी डिजिटल क्रांति से जोड़ने का प्रयास करता रहूंगा |

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Contact Us